What We Do

About NATIONAL HUMAN RESEARCH SOCIETY

  • आजादी के 75 वर्ष में गरीबी, अशिक्षा, लूट, हत्या, रिश्वतखोरी आदि प्रकार के अपराध, भ्रष्टाचार में कमी आने के बदले ये नीति नए इतिहास की रचना कर रहे है| देश में सामान शिक्षा ना होना तथा गरीब मेधावी छात्रों को समुचित, शिक्षा एवं युवाओं को रोजगार की अव्यवस्था इसका मूल कारण प्रतीत होता है | राज्य और केंद्र सरकार के स्तर पर इनके विकास के विभिन्न योजनाएं संचालित हैं | लेकिन अफसरशाही के कारण आवश्यक लाभार्थी लाभ से वंचित रह जाता है, जिसके कारण समाज में अमीर गरीबी के फासला बढ़ता जा रहा है, भौतिक सुख के तृष्णा में मानव का मनावता समाप्त सा हो गया है| इसे देखने को मिलता है कि गरीब, एवं उचित मार्गदर्शन के अभाव में उच्च कोटि के मेधा क्षमता वाले बच्चे अपने जीवन के उच्च लक्ष्य से भटक जाते हैं अथवा उस लक्ष्य को छोड़ने को विवश हो जाते हैं| बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने कहा है शिक्षा शेरनी का दूध है जो पिएगा हारेगा मतलब साफ है गरीब बच्चों को उचित शिक्षा व रोजगार के अवसर मिला तो निश्चित रूप से अमीरी गरीबी का फासला कम होगा तथा उच्च शिक्षा  के बल पर मानवता की परख से भ्रष्टाचार कम होगा|

 

  •  बिहार खासकर उत्तर बिहार / मिथिला क्षेत्र में शिक्षा व रोजगार का समुचित व्यवस्था नहीं है, यहां के मजदूर लाचार हैं किंतु शिक्षित नौजवान व किसान दिल्ली, पंजाब, गुजरात, मुंबई आदि राज्यों में मजदूर बन मजदूरी करने पर विवश हैं तथा इनके कठिन परिश्रम के बल पर उक्त राज्य विकास के नित नए आयाम लिख रही है इस क्षेत्र में रोजगार हेतु पलायन करने वाले मात्रा 25% लोगों को बिहार के रोजगार मिल जाए तो आवश्यकतानुसार उद्योग की स्थापना होगी जिससे बिहार में रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे तथा बिहार विकास की मंजिल प्राप्त करेगी |

 

  • संतकबीर, महात्माबुद्ध, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, डॉक्टर लोहिया, महात्मा बुद्ध, भगत सिंह आदि महापुरुषों के विचारो का समतामूलक समाज की स्थापना तथा गरीब मेधावी छात्रों को समुचित शिक्षा व रोजगार की क्रांति मशाल को आगे बढ़ाने मे सामूहिक सहयोग की आवश्यकता है|

 

  • राष्ट्रीय मानव शोध संस्थान  बिहार में शिक्षा, रोजगार क्रांति के अभियान के निम्नालिखित ज्वलंत समस्याओं पर संघर्ष करने का निर्णय किया है|

 

                                                                                  हमारा संघर्ष

 

1.गरीब मेधावी छात्रों को मेधा सम्मान, छात्रवृत्ति, छात्रावास, आधुनिक पुस्तकालय, हाईटेक कोचिंग तथा रोजगार हेतु प्रशिक्षण मार्गदर्शन आदि का व्यवस्था करना|

2.देश के प्रसिद्ध खादी एवं अन्य सभी प्रकार के लघु उधोगों के प्रति जागरूकता प्रशिक्षण तथा ऋणव्यवस्था में सहायता करना|

3.बिहार में डोमिसाइल लागू कर सरकारी कार्यालयों में रिक्त पदों पर विशेष बहाली करानेकासंघर्ष करना|

4.सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित कर पुरानी पेंशन लागू कराने का संघर्ष करना|

5.आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, आशा कार्यकर्ता, जीविका दीदी सरकारी कर्मचारी का दर्जा एवं न्यूनतम 21000 का वेतनमान की संघर्ष करना|

6.असंगठित क्षेत्र में मजदूरों को संगठित करना, उन्हेंकौशलतानुसाररोजगारव्यवस्थामें सहायता करना तथा मजदूर अत्याचार के खिलाफ संघर्ष करना|

7.लघु उद्योग, छोटे मझोले व्यवसायों को संगठित कर सस्ते मूल पर कच्चे माल तथा उत्पादित वस्तुओं का बाजारीकरण एवं व्यवसाय विस्तार हेतु ऋण आदि सुविधाओं के प्रति संघर्ष करना |

8.राज्य में शराबबंदी कानून के प्रति जागरूकता तथा प्रभावित व्यक्ति या परिवार को विधिक एवं अन्य सहायता की संघर्ष करना |

9.महिला,अनुसूचित जाति, जनजाति एवं अन्य कमजोर लोगों के मिलके जागरूकता तथा उन पर किसी भी प्रकार के अत्याचार के खिलाफ संघर्ष करना|

10.किसान विकास, भूमि विकास, पशुपालन, मत्स्य उद्योग, अनुसूचितजाति या जनजाति एवं अन्य कमजोर परिवारों को वासगीत पर्चा,स्वच्छ पेय जल उचित स्वास्थ्य व्यवस्था आदि मानव विकास के सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के प्रति जागरूकता एवं नियमानुसार योजना संचालन के बाधक लोकसेवक या पदाधिकारी का पोल खोल हल्लाबोल रोजगार क्रांति अभियान संचालित करना |

11.बंद पड़े उद्योगों को पुनर्जीवित एवं नए उद्योग स्थापना हेतु संघर्ष करना |

 अतः उपयुक्त मानवता विकास एवं बिहार विकास हेतु जन सरोकार के तमाम ज्वलंत समस्याओं में संघर्ष क्रांति की मशाल आपके सहयोग के बिना आगे बढ़ना संभव नहीं होगा इसीलिए  राष्ट्रीय मानव शोध संस्थान का सदस्य बन शिक्षा रोजगार क्रांति अभियान को मजबूत व सफल बनाएं |

                                                                                                                                                                              धन्यवाद |

   डॉ. रामबाबूचौपाल          जितेंद्रकुमार           प्रमोदकुमार                      निवेदक

संपर्कसूत्र :-   8051835848        7992325052     9546421357       National Human Reserch Society

Become Partner/Franchise